Mangal dosh nivaran pooja

Mangal dosh nivaran pooja

...

ग्रहों में मंगल पृथ्वी का निकटतम पडोसी गृह है। ज्योतिष में मंगल को काल पुरुष का पराक्रम माना गया है। मंगल पराक्रम, साहस, आत्म विश्वास, खतरे उठानेकी शक्ति, क्रोध, घृणा, झूठ एवं शास्त्र विद्या के अधिपति माने गए हैं। जन्म कुंडली में एक चार साथ आठ बारवे स्थान में मंगल हो तो ऐसी कुंडली मांगलिक कहलाती है अर्थात मंगल दोष माना जाता है परन्तु यदि किसी लड़की या लड़के की कुंडली में एक चार साथ आठ या बारवे भाव में शनि राहु सूर्य मंगल हो तो मंगल दोषनहीं माना जाता। मंगल दोष की संपूर्ण जानकारी एवं समाधान हेतु संपर्क करें

Package fees 51000/-

Know Your Fortune Fee only Rs. 700/-